Romantic Shayari

अकेले हम बूँद हैं

By  | 

अकेले हम बूँद हैं, मिल जाएं तो सागर हैं
अकेले हम धागा हैं, मिल जाएं तो चादर हैं
अकेले हम कागज हैं, मिल जाए तो किताब हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

wholesale jerseys